Fandom

Hindi Literature

अट नहीं रही है / सूर्यकांत त्रिपाठी "निराला"

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

अट नहीं रही है

आभा फागुन की तन

सट नहीं रही है।


कहीं साँस लेते हो,

घर-घर भर देते हो,

उड़ने को नभ में तुम

पर-पर कर देते हो,

आँख हटाता हूँ तो

हट नहीं रही है।

पत्‍तों से लदी डाल

कहीं हरी, कहीं लाल,

कहीं पड़ी है उर में,

मंद-गंध-पुष्‍प माल,

पाट-पाट शोभा-श्री

पट नहीं रही है।

Also on Fandom

Random Wiki