Fandom

Hindi Literature

उजाले / रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु'

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

उम्र भर रहते नहीं हैं

संग में सबके उजाले ।

हैसियत पहचानते हैं

ज़िन्दगी के दौर काले ।

तुम थके हो मान लेते-

हैं सफ़र यह ज़िन्दगी का ।

रोकता रस्ता न कोई

प्यार का या बन्दगी का ।

हैं यहीं मुस्कान मन की

हैं यहीं पर दर्द-छाले।

तुम हँसोगे ये अँधेरा,

दूर होता जाएगा ।

तुम हँसोगे रास्ता भी

गाएगा मुस्कराएगा ।

बैठना मत मोड़ पर तू

दीप देहरी पर जलाले ।

Also on Fandom

Random Wiki