Fandom

Hindi Literature

एक अतुकांत सानेट / भारत यायावर

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

जीवन को समझौते की दलदल में रखकर

जीने से इन्कार रहा है । इससे क्योंकर

दुखी हुए हैं मेरे भाई! आँच हृदय की

धधक रही है । नहीं बुझेगी तब तक, जब तक

लोगों को सुख की चादर में सोया पाकर

उनके सुख से तृप्त नहीं हो जाऊँ जी भर ।

रात-रात भर, जाग-जाग कर सपनों में मैं

भारत की तस्वीर बनाता हूँ जिसमें वह

सैनिक है । लड़ने खातिर तैयार हो रहा ।

समझ रहा है चीज़ों को उनकी हालत में ।

गुज़र रहा है लोगों की पीड़ा से होता ।

ऎसे में कैसे बोलो समझौता कर लूँ

उन्हीं ताकतों से जिनकी सूरत से घृणा

भभक रही है । भभक रही है । भभक रही है ।


(रचनाकाल : 1982)

Also on Fandom

Random Wiki