Fandom

Hindi Literature

एक लहर फैली अनन्त की / त्रिलोचन

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

सीधी है भाषा बसन्त की


कभी आंख ने समझी

कभी कान ने पायी

कभी रोम-रोम से

प्राणों में भर आयी

और है कहानी दिगन्त की


नीले आकाश में

नयी ज्योति छा गयी

कब से प्रतीक्षा थी

वही बात आ गयी

एक लहर फैली अनन्त की ।

Also on Fandom

Random Wiki