Fandom

Hindi Literature

कन्याकुमारी : सूर्योदय : सूर्यास्त / दूधनाथ सिंह

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

काले समन्दर में अचानक एक लाल स्तम्भ उगता है ।

लहर-लहर मारती है गैंती--टूटकर फैलता है लाल रंग

एक ग़ुस्सैल इशारे की तरह

तमतमाता हुआ सूरज

उठता है : गिरता है


काला समन्दर फिर

अपना वही अट्टहास-- शुरू करता है


लौटते हैं हम चुपचाप ।


शुरू होती है कविता फिर

एक चीख़ की मानिन्द ।

Also on Fandom

Random Wiki