Fandom

Hindi Literature

कब? झरना / जयशंकर प्रसाद

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER


शून्य हृदय में प्रेम-जलद-माला कब फिर घिर आवेगी?

वर्षा इन आँखों से होगी, कब हरियाली छावेगी?

रिक्त हो रही मधु से सौरभ सूख रहा है आतप हैं;

सुमन कली खिलकर कब अपनी पंखुड़ियाँ बिखरावेगी?

लम्बी विश्व कथा में सुख की निद्रा-सी इन आँखों में-

सरस मधुर छवि शान्त तुम्हारी कब आकर बस जावेगी?

मन-मयूर कब नाच उठेगा कादंबिनी छटा लखकर;

शीतल आलिंगन करने को सुरभि लहरियाँ आवेगी?

बढ़ उमंग-सरिता आवेगी आर्द्र किये रूखी सिकता;

सकल कामना स्रोत लीन हो पूर्ण विरति कब पावेगी?

Also on Fandom

Random Wiki