Fandom

Hindi Literature

कहते हो न देंगे हम दिल अगर पड़ा पाया / ग़ालिब

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

कहते हो न देंगे हम दिल अगर पड़ा पाया
दिल कहाँ कि गुम कीजे हमने मुद्दआ पाया

इश्क़ से तबीअत ने ज़ीस्त का मज़ा पाया
दर्द की दवा पाई दर्द-ए-बेदवा पाया

दोस्तदार-ए-दुश्मन है एतिमाद-ए-दिल मालूम
आह बेअसर देखी नाला नारसा पाया

सादगी-ओ-पुरकारी बेख़ुदी-ओ-होशियारी
हुस्न को तग़ाफ़ुल में जुरअत आज़मा पाया

ग़ुन्चा फिर लगा खिलने आज हम ने अपना दिल
ख़ूँ किया हुआ देखा गुम किया हुआ पाया

हाल-ए-दिल नहीं मालूम लेकिन इस क़दर यानी
हम ने बारहा ढुँढा तुम ने बारहा पाया

शोर-ए-पन्द-ए-नासेह ने ज़ख़्म पर नमक छिड़का
आप से कोई पूछे तुम ने क्या मज़ा पाया

Also on Fandom

Random Wiki