Fandom

Hindi Literature

खुरदरे पैर / नागार्जुन

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

रचनाकार: नागार्जुन

~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~

खुब गये

दूधिया निगाहों में

फटी बिवाइयोंवाले खुरदरे पैर


धंस गये

कुसुम-कोमल मन में

गुट्ठल घट्ठोंवाले कुलिश-कठोर पैर


दे रहे थे गति

रबड़-विहीन ठूंठ पैडलों को

चला रहे थे

एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन चक्र

कर रहे थे मात त्रिविक्रम वामन के पुराने पैरों को

नाप रहे थे धरती का अनहद फासला

घण्टों के हिसाब से ढोये जा रहे थे !


देर तक टकराये

उस दिन इन आंखों से वे पैर

भूल नहीं पाऊंगा फटी बिवाइयां

खुब गयीं दूधिया निगाहों में

धंस गयीं कुसुम-कोमल मन में


१९६१ में लिखी गई

Also on Fandom

Random Wiki