Fandom

Hindi Literature

घोड़े ही घोड़े हैं / कुमार रवींद्र

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

घोड़े ही घोड़े हैं

दौड़ रहे बेलगाम घोड़े हैं सड़कों पर


घोड़े ये आदिम हैं

सदियों से

ऐसे-ही दौड़ रहे

थकें नहीं थमें नहीं

यह कैसा पागलपन

कौन कहे


वैसे भी खतरे थोड़े हैं सड़कों पर

घोड़े ही घोड़े हैं


बिजली है पांवों में

बादल-से

उड़ते उनके अयाल

दूर कहीं झरने में

ऐड़ लगा

जल गाता है ख़याल


वही राग झरनों ने मोड़े हैं सड़कों पर

घोड़े ही घोड़े हैं।


कथा एक -

कहते हैं किरणों ने

रूप धरा घोड़ों का

बार-बार

मिलन हुआ था

उनके जोड़ों का

वही रूप किरणों ने छोड़े हैं सड़कों पर

घोड़े ही घोड़े हैं।

Also on Fandom

Random Wiki