Fandom

Hindi Literature

जादू का टूटना / गोरख पाण्डेय

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER


आग के ठंडे झरने-सा

बह रहा था

संगीत

जिसे सुना नहीं जा सकता था

कम-से-कम

पाँच रुपयों के बिना ।

'चलो, स्साला पैसा गा रहा है'

पंडाल के पास से

खदेड़े जाते हुए लोगों में से

कोई कह रहा था ।

जादू टूट रहा है--

मुझे लगा--स्वर्ग और

नरक के बीच तना हुआ

साफ़ नज़र आता है

यहाँ से

पुलिस का डंडा

आग

बाहर है पंडाल के

भीतर

झरना ठंडा ।

Also on Fandom

Random Wiki