Fandom

Hindi Literature

जानत नहिं लगि मैं

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

लेखक: बिहारी

~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*


जानत नहिं लगि मैं मानिहौं बिलगि कहै

तुम तौ बधात ही तै वहै नाँध नाध्यौ है।

लीजिये न छेहु निरगुन सौं न होइ नेहु

परबस देहु गेहु ये ही सुख साँध्यौ है।

गोकुल के लोग पैं गुपाल न बिसार्यौ जाइ

रावरे कहे तौ क्यौं हूँ जोगो काँध काँध्यौ है।

कीजिए न रारि ऊधौ देखिये विचारि काहु

हीरा छोड़ि डारि कै कसीरा गाँठि बाँध्यौ है।।

Also on Fandom

Random Wiki