Fandom

Hindi Literature

जेहनों में ख़याल जल रहे हैं / अहमद नदीम क़ासमी

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

जेहनों में ख़याल जल रहे हैं|
सोचों के अलाव-से लगे हैं|

दुनिया की गिरिफ्त में हैं साये,
हम अपना वुजूद ढूंढते हैं|

अब भूख से कोई क्या मरेगा,
मंडी में ज़मीर बिक रहे हैं|

माज़ी में तो सिर्फ़ दिल दुखते थे,
इस दौर में ज़ेहन भी दुखे हैं|

सिर काटते थे कभी शहनशाह,
अब लोग ज़ुबान काटते हैं|

हम कैसे छुड़ाएं शब से दामन,
दिन निकला तो साए चल पड़े हैं|

लाशों के हुजूम में भी हंस दें,
अब ऐसे भी हौसले किसे हैं|

Also on Fandom

Random Wiki