Fandom

Hindi Literature

तुम्हारी प्रफुल्ल कोमलता ने / ओसिप मंदेलश्ताम

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































साँचा:KKAnooditRachna

तुम्हारी

प्रफुल्ल कोमलता ने

मुझे व्याकुल किया

थोड़ा-सा


क्यों

उदास बातें

करती हो तुम

तब

जब

तुम्हारी आँखें

चमकती हैं

ऎसे

जैसे

भरे-पूरे दिन में

जले मोमबत्ती


भरे-पूरे दिन में

वहाँ दूर

बहुत दूर तक


मिलन की स्मॄतियाँ

झुके हुए कंधे

और एक आँसू

जो

इस कोमलता को

तुम्हारी

और बढ़ाता है


(रचनाकाल : 1909)

Also on Fandom

Random Wiki