Fandom

Hindi Literature

दाग़ देहलवी / जवानी गुज़र गयी

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

रचनाकार: दाग़ देहलवी

~*~*~*~*~*~*~*~~*~*~*~*~*~*~*~

क्या कहिये किस तरह से जवानी गुज़र गयी

बदनाम करने आई थी बदनाम कर गयी।


क्या क्या रही सहर को शब-ए-वस्ल की तलाश

कहता रहा अभी तो यहीं थी किधर गयी।


रहती है कब बहार-ए-जवानी तमाम उम्र

मानिन्दे-बू-ए-गुल इधर आयी उधर गयी।


नैरंग-ए-रोज़गार से बदला न रंग-ए-इश्क़

अपनी हमेशा एक तरह पर गुज़र गयी।

Also on Fandom

Random Wiki