Fandom

Hindi Literature

पत्थरों का शहर / कमलेश भट्ट 'कमल'

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

रचनाकार: कमलेश भट्ट 'कमल'

~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~

पत्थरों का शहर‚ पत्थरों की गली

पत्थरों की यहाँ नस्ल फूली फली


आप थे आदमी‚ आप हैं आदमी

बात यह भी बहूत पत्थरों को खली


एक शीशा न बचने दिया जायेगा

गुफ़्तगू रात भर पत्थरों में चली


खिलखिलाते हुए यक ब यक बुझ गई

पत्थरों के ज़रा ज़िक्र पर ही कली


जो कि प्यासे रहे खून के‚ मौत के

एक नदिया उन्हीं पत्थरों में पली

Also on Fandom

Random Wiki