Fandom

Hindi Literature

पयाम आये हैं उस यार-ए-बेवफ़ा के मुझे / फ़राज़

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER


पयाम आये हैं उस यार-ए-बेवफ़ा के मुझे
जिसे क़रार न आया कहीं भुला के मुझे

नशे से कहूँ तो नहीं याद-ए-यार का आलम
के ले उड़ा है कोई दोश पर हवा के मुझे

जुदाइयाँ हों तो ऐसी कि उम्र भर न मिले
फ़रेब तो दो ज़रा सिलसिले बढा़ के मुझे

मैं ख़ुद को भूल चुका थ मगर जहाँ वाले
उदास छोड़ गये आईना दिखा के मुझे

Also on Fandom

Random Wiki