Fandom

Hindi Literature

बयान / रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु'

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

मैं बार– बार आऊँगा

लेकर फूलों का हार

तुम्हारे द्वार ।


जितने भी काँटे पथ में

बिखरे हुए पाऊँगा

आने से पहले मैं

जरूर हटाऊँगा ।


मैं बार –बार आऊँगा ।

बहुत हैं अँधेरे जग में

आँगन में देहरी पर

जहाँ तक हो सकेगा

दीपक जलाऊँगा ।


मैं बार– बार आऊँगा ।

मुस्कानों की खुशबू को

बिखेर हर चेहरे पर

सूरज सी चमक सदा

हर बार लाऊँगा

मैं बार– बार आऊँगा ।

Also on Fandom

Random Wiki