Fandom

Hindi Literature

भरती हो लै रे थारे बाहर खड़े रंगरूट / हरियाणवी

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































मोटा पाठ[[[कड़ी शीर्षक]

चित्र:शीर्षकमीडिया:उदाहरण.ogg Edit

]]
[[[कड़ी शीर्षक]

चित्र:शीर्षक[[मीडिया:पार्स नहीं कर पायें (लेक्सींग समस्या): उदाहरण.ogg --~~~~अप्रारूपित सामग्री यहाँ डालें ---- ]] Edit

]]== शीर्षक == साँचा:KKLokGeetBhaashaSoochi

भरती हो लै रे थारे बाहर खड़े रंगरूट !

याँ ऎसा रखते मध्यम बाना

मिलता पटिया पुराना ;

वाँ मिलते हैं फुलबूट ।

भरती हो लै रे थारे बाहर खड़े रंगरूट !


भावार्थ

--'चलो भाइयो, चलो फ़ौज में भरती हो जाओ । देखो, तुम्हें लेने के लिए रंगरूट तुम्हारे दरवाज़े पर आए हैं ।

यहाँ तुम्हारा बाना(वेश)साधारण किस्म का है क्योंकि यहाँ तुम्हें पहनने को फटे-पुराने कपड़े ही मिलते हैं । जबकि

वहाँ फ़ौज में तुम्हें नए कपड़ों के साथ-साथ फुलबूट भी पहनने को मिलेंगे । चलो भाइयो, चलो । फ़ौज में भरती

हो जाओ ।'

Also on Fandom

Random Wiki