Fandom

Hindi Literature

मँहगाई / काका हाथरसी

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

जन - गण - मन के देवता , अब तो आँखें खोल

महँगाई से हो गया , जीवन डाँवाडोल

जीवन डाँवाडोल , ख़बर लो शीघ्र कृपालू

कलाकंद के भाव बिक रहे बैंगन - आलू

कहँ ‘ काका ' कवि , दूध - दही को तरसे बच्चे

आठ रुपये के किलो टमाटर , वह भी कच्चे


राशन की दुकान पर , देख भयंकर भीर

‘ क्यू ’ में धक्का मारकर , पहुँच गये बलवीर

पहुँच गये बलवीर , ले लिया नंबर पहिला

खड़े रह गये निर्बल , बू ढ़े , बच्चे , महिला

कहँ ‘ काका ' कवि , करके बंद धरम का काँटा

लाला बोले - भागो , खत्म हो गया आटा

Also on Fandom

Random Wiki