Fandom

Hindi Literature

माँ / राजा खुगशाल

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

वनस्पतियों को दुलारती रहती हैं हवाएँ

ज़मीन की ओर देख कर कहता हूँ--माँ

ज़मीन नहीं कहती--हाँ


खेतों से लौट कर

गाँव के ओने-कोने में खोजती थीं मुझे

दो तरल आँखें

ओझल हो गईं

खुरदरी हथेलियाँ

जिनकी पहुँच से दूर होता रहा मैं


हथेलियाँ

जिन्होंने घर की दीवारों को

माटी-गोबर से

जीवन भर लीपा था


ओबरे में दूर तक सँवारा था

हमारा संसार

कंडी में रोटियाँ

कटोरी में सब्ज़ी

सुनसान रातों में

अब मेरा इन्तज़ार नहीं करतीं ।

Also on Fandom

Random Wiki