Fandom

Hindi Literature

राही से / प्रभाकर माचवे

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

इस मुसाफ़िरी का कुछ न ठिकाना भैया !
याँ हार बन गया अदना दाना, भैया ।

है पता न कितनी और दूर है मंज़िल

हम ने तो जाना केवल जाना भैया !

तकरार न करना जाना है एकाकी
हमराह बचेगा कौन भला अब बाकी

जब सम्बल भी सब एक-एक कर छुटता

बस बची एक झाँकी उन नक्शे-पा की ।

छुट चले राह में नये-पुराने साथी
मिट गयी मार्गदर्शक यह कम्पित बाती

नंगी प्रकृति वीरान भयावह आगे

मैं जाता हूँ, आओ, हो जिस की छाती !

Also on Fandom

Random Wiki