Fandom

Hindi Literature

रुलाया था बहुत तुमने / भावना कुँअर

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

रचनाकार: भावना कुँअर

~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~*~


रुलाया था बहुत तुमने, जो मेरे दिल को तोड़ा था

जमाने भर की नफरत को, मेरे हिस्से में छोड़ा था ।


बनाया महल सपनों का, सजाया मन के आँगन को

लगाई थी जो चिंगारी, जलाके सबको छोड़ा था ।


मेरे होने का दम भरके, निभाई गैर से उल्फत

बचाकर मुझसे ही नजरें, भरोसा मेरा तोड़ा था ।


सजाया था बहारों से, मेरे दुश्मन के दामन को

निभाने का किया वादा, मगर वादों को तोड़ा था ।


बिखरकर सूखती डाली, नहीं अब कोई भी माली

था बंधन जो ये सांसों का, उसे तूने ही तोड़ा था।

Also on Fandom

Random Wiki