Fandom

Hindi Literature

वन में पड़े हिम का नीरव गीत / ओसिप मंदेलश्ताम

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































साँचा:KKAnooditRachna

वन में
पड़े हिम का नीरव गीत
तेरे क़दमों का संगीत

तू सरकी
उस हिम-दिवस को वैसे
सरके कोई छाया धीमे-से जैसे

गहरा था
जाड़ा रात की तरह
झालर-सी बर्फ़ टंगी थी सौगात की तरह

कौओं ने
अपनी टहनी पर रहकर
जीवन में देखा है सब-कुछ सहकर

मन में
उठती है एक तरंग
सपना एक दौड़े बन उमंग

प्रेरणा सारी
चकनाचूर हो पहुँची गर्त
जैसे टूटी हो कोमल-ताज़ा हिम की पर्त

मेरे मन का
यह हिम कोमल
नीरवता में हुआ सबल


(रचनाकाल :1909)

Also on Fandom

Random Wiki