Fandom

Hindi Literature

वे और हम / कैलाश गौतम

१२,२६१pages on
this wiki
Add New Page
Talk0 Share

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng.png
































CHANDER

स्वयं विचरते रहे सदा स्वच्छन्द दिशाओं में

हम सबको उलझाये रक्खा नीति-कथाओं में।


हर पीढ़ी में छले गये हम

गुरुओं-प्रभुओं से

जीये भी तो इनके ही

खूंटे पर पशुओं से

घुट-घुट कर रह गयी हमारी चीख गुफाओं में


इन्हीं महन्तों-संतों ने

कठघरा बनाया है

पाप-पुण्य औ स्वर्ग-नरक

इनकी ही माया है

अपने रहते प्रावधान से ये धाराओं में।


हम होते हैं हवन

और ये होता होते हैं

कान फूंकते जहां

वहां हम श्रोता होते हैं

जनम-जनम यजमान सरीखे हम अध्यायों में।


जैसे गोरे वैसे काले

कोई फर्क नहीं

सुनते जाओ करते जाओ

तर्क-वितर्क नहीं

कभी नहीं बर्दाश्त इन्हें अपनी सुविधाओं में।

Also on Fandom

Random Wiki