FANDOM

१२,२६८ Pages

http://www.kavitakosh.orgKkmsgchng
































साँचा:KKAnooditRachna


सुबह के लिए लड़ने वाले हाथों को बांध कर

सुबह देखने को उत्सुक व्यग्र आँखों पर

तूने सहर के वक़्त पर्दा डाल दिया ।


फिर सुबह को पुकार कर बुलाने वाले गले में

फाँसी का फन्दा डाल दिया ।


जब तूने बटन दबा कर पीछे देखा

सारा आसमान सुर्ख़ था

रक्तजनित कोख में

कोई आँख खोल रहा था ।

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.